ये ज़रूरी तो नही

जब बरसे बारिश
मेरा मन्न भीग जाये
ये ज़रूरी तो नहीं |

सफर में साथ थे जो
मंज़िल तक रहें साथ
ये ज़रूरी तो नहीं |

ज़िन्दगी की बात हो
और मैं जीया हूँ
ये ज़रूरी तो नहीं |

आग बुझी हो
और राख ठंडी हुई हो
ये ज़रूरी तो नहीं |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top