उम्र भर माँ हमारी

umra bhar maa humari sehti rehti hai
dil mein hazaar mushqiley samete rehti hai

janm se maran tak har subha ki dhoop ke saath
aur raat mein chaand ki chandni si maa, mere qareeb rehti hai

उम्र भर माँ हमारी सहती रहती है
दिल में हज़ार मुश्किलें और राज़ समेटे रहती है

जन्म से मरण तक हर सुबह की धूप के साथ
और रात में चाँद की चांदनी सी माँ, मेरे करीब रहती है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top