कोई मौसम

koi mausam adhura na reh jaaye
tum roz milte raha karo jana

कोई मौसम अधूरा रह जाये
तुम
रोज़ मिलते रहा करो जाना |

आसमां पिघला

aasmaN pighla resham si dhoop liye
ik nayi waadi mein hum milenge is bar.

आसमां पिघला रेशम सी धूप लिये
इक नयी वादी में हम मिलेंगे इस बार |

वादा करना तोड़ देना

vaada karna tod dena to niyat ki baat hai
gam to warna ishq mein or bewafaayi mein bhi hai.

वादा करना तोड़ देना तो नियत की बात है
ग़म तो वरना इश्क़ में और बेवफाई में भी है |

Scroll To Top