घुटन सी है हर तरफ

ghutan si hai har taraf, meri nazar ki pahoch tak,
main saans bhi nahi le pata, Dil bhi ab dhadakta nahi.

घुटन सी है हर तरफ, मेरी नज़र की पहोंच तक,
मैं सांस भी नहीं ले पाता, दिल भी अब धड़कता नहीं |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top